Latest News

आठ सूत्रीय मांगों को लेकर लेखपालों ने निकाली बाइक रैली

फतेहपुर, शमशाद खान । उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के आहवान पर आठ सूत्रीय मांगों को लेकर सदर तहसील के लेखपालों ने बाइक रैली निकाली। रैली के दौरान लेखपालों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। रैली विभिन्न मार्गों से भ्रमण करती हुयी पुनः नई तहसील पहुंचकर समाप्त हुयी। समापन पर वक्ताओं ने मांगांे को गिनाते हुए आवाज बुलन्द की। 
लेखपाल संघ के अध्यक्ष रामनरेश निषाद व मंत्री राजाम की अगुवई में सदर तहसील के लेखपाल नई तहसील में एकत्र हुए। निर्धारित समय पर बाइक रैली नई तहसील से निकलकर बुलेट चैराहा से डाक बंगला होते हुए ज्वालागंज चैराहा पहुंची। यहां से वर्मा चैराहा, हरिहरगंज, रेलवे नाका, स्टेशन रोड, शादीपुर चैराहा, पटेलनगर चैराहा से कलेक्ट्रेट रोड होकर पुनः नई तहसील पहुंचकर समाप्त हुयी। रैली के दौरान रास्ते भर लेखपाल अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलन्द करते रहे। समापन पर लेखपालों को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि

बाइक रैली निकालते लेखपाल।  
लेखपाल काफी समय से अपनी मांगों को लेकर संघर्ष करते चले आ रहे हैं। लेकिन उनकी जायज मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है। 30 नवम्बर 1994 के पूर्व नियुक्त लेखपालों को 16 वर्ष की सेवा द्वितीय एसीपी के रूप में ग्रेड पे 4200 व उसके बाद नियुक्त लेखपालों को 16 वर्ष की समान सेवा पर ग्रेड पे 2800 मिल रहा है। लेखपाल के कार्य में वृद्धि एवं विशिष्ट व तकनीकी महत्व के दृष्टिगत प्रारंभिक ग्रेड पे 2000 से बढ़ाकर 2800 उच्चीकृत किया जाये, राजस्व निरीक्षक के पदों में वृद्धि एवं राजस्व निरीक्षक व नायब तहसीलदार के पदों पर पदोन्नति एवं विभागीय परीक्षा के माध्यम से लेखपालों को अधिक अवसर प्रदान किये जायें, वर्ष 1999-2000 की विज्ञप्ति के आधार पर लेखपाल रिक्तियों पर वर्ष 2001 में चयनित एवं वर्ष 2003-04 में प्रशिक्षित लेखपालों को प्रशासनिक विलम्ब के बाद नियुक्ति एक अप्रैल 2005 के बाद होने के आधर पर पुरानी पेंशन से वंचित लेखपालों के प्रशिक्षण काल को वेतन रहित सेवाकाल माना जाये। इसके अलावा अन्य मांगे भी गिनाई गयीं। लेखपालों का कहना रहा कि जब तक मांगे पूरी नहीं होंगी संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके पर संतोष कुमार, आशुतोष कुमार, सुरेन्द्र श्रीवास्तव, अनिल कुमार, विनोद प्रसाद सहित बड़ी संख्या में लेखपाल मौजूद रहे। 

No comments