सामने आया चौंकाने वाला सच, बेबस युवतियों से करवाती थी 'गंदा काम' - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, November 27, 2019

सामने आया चौंकाने वाला सच, बेबस युवतियों से करवाती थी 'गंदा काम'

कानपुर के नजीराबाद थाना क्षेत्र के लाजपत नगर में पकड़े गए सेक्स रैकेट के बाद एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं। पुलिस की जांच में पता चला है कि रैकेट संचालिका लवली चक्रवर्ती उर्फ बरखा मिश्रा बेबस युवतियों को जाल में फंसाकर उनसे देह व्यापार करवाती थी। अगर किसी ने छोड़ने का प्रयास किया तो वह जान से मारने से लेकर बदनाम करने की धमकी देती थी।
कानपुर गौरव शुक्ला:- सीओ नजीराबाद गीतांजलि सिंह के मुताबिक पकड़ी गईं चार युवतियों में से एक युवती अनाथ है। परिवार में केवल उसकी एक छोटी बहन है। सोशल मीडिया के जरिए बरखा से उसकी जान पहचान हुई थी। पैसे कमाने का लालच देकर बरखा ने रैकेट में शािमल किया। इसके बाद वह जाल से बाहर नहीं निकल पाई।
वहीं, एक युवती की बहन को किडनी की बीमारी है। पूछताछ में उसने बताया कि बहन के इलाज के लिए लाखों रुपये की जरूरत है। इसलिए वह ऐसा काम कर रही थी। बरखा ने भी उसे मोटी रकम देने के बात कही थी लेकिन अब उसे न तो अधिक पैसे दे रही थी और न ही वापस जाने दे रही थी।
युवतियों को मिलता था 15 सौ से दो हजार

पुलिस के मुताबिक बरखा वैसे तो ग्राहक से हजारों रुपये वसूलती थी। अगर कोई बड़ा ग्राहक फंस गया तो उससे लाखों रुपये लेती थी। हालांकि वह लड़कियों को 1500 से दो हजार रुपये देकर चलता करती थी।
ताकि पहचान न हो

पुलिस ने जब बरखा से पूछा कि यहां पर बाहरी लड़कियां क्यों आई हैं। इस पर उसने बताया कि जिस शहर से लड़कियों की डिमांड आती है, अगर वहां पर उसी शहर की लड़की को भेजा जाएगा तो उसकी पहचान उजागर होने की संभावना रहती है। इसलिए जो लड़कियां जिस शहर की होती है, वहां के बजाए उनको दूसरे राज्यों या शहरों में भेजा जाता है। आने जाने का पूरा खर्च ग्राहक उठाते हैं।

पुलिस की रहती है मेहरबानी

बरखा को पिछले साल फीलखाना स्थित एक अपार्टमेंट से पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था। जेल से छूटने के बाद करीब दो महीने पहले से बरखा ने फिर से देह व्यापार का धंधा शुरू कर दिया। इसकी खबर पुलिस को थी। हालांकि पुलिस कार्रवाई करने से कतराती रही। शनिवार को अधिकारियों के आदेश पर जब छापा मारा गया तो वह देर रात तक पुलिस को मैनेज करने में जुटी रही। हालांकि पुलिस को आखिर में कार्रवाई करनी ही पड़ी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages