Latest News

किसानों की जगह बिचैलियों से नेकाफ एजेंसी कर रही धान की खरीद

पूर्व में दर्ज धोखाधड़ी की बात छिपाकर हासिल की खरीद की अनुमति

फतेहपुर, शमशाद खान । किसानों से धान की खरीद करने के लिये अधिकृत एजेंसी भारतीय राष्ट्रीय कृषक उपज उपार्जन प्रसंस्करण व रिटेलिंग सहकारी संघ लि (नेकाफ) द्वारा किसानों से धान कि खरीद करने की जगह बड़ा खेल करते हुए बिचैलियों से खरीद की जा रही है। क्रय केंद्रों से किसानों को धान की तौल के लिये तब तक टरकाया जाता है। जब तक कि वह अपनी धान की उपज को औने पौने दामो में किसी साहूकारों को न बेच दे। केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की आय को बढ़ाने के लिये लगातार योजनाएं संचालित करने के साथ ही सरकार द्वारा खेती की लागत को कम करने व उपज बढ़ाये जाने व एजेंसी के माध्यम से किसानों से सीधे उपज की सरकारी खरीद की जाती है लेकिन अधिकारियों से मिलीभगत कर सरकार की आंखों में धूल झोंककर खरीद करने के लिये अधिकृत हुई एजेंसी नेकाफ के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी खरीद की अनुमति हासिल कर जिले में बिंदकी, मुरादीपुर, सुकेती, इन्द्रो, मांझे का पुरवा, फरीदपुर, सहिमपुर, असोथर

समेत अन्य जगहों पर केंद्र बनाकर खरीद की शुरुआत भी कर दी गयी। खरीदारी में पूर्व में गोलमाल करने वाली एजेंसी द्वारा इस बार भी किसानों की जगह बिचैलियों से बड़े पैमाने में खरीद की जा रही है। जबकि कागजों में बाकायदा किसानो के नामो की एंट्री कर दस्तावेजों को दुरुस्त दिखाया जा रहा है। एजेंसी द्वारा पूर्व में की गयी धोखाधड़ी करने पर सीबीआई जांच का सामना कर रही दागी एजेंसी द्वारा पुनः अधिकृत होकर खरीद करने की बात मीडिया द्वारा संज्ञान में आने पर जिम्मेदारो के हाथ पैर फूल गये फिलहाल प्रशासन ने डिफाल्टर एजेंसी की खरीद रुकवाने के साथ एजेंसी विरुद्ध जांच शुरू कर दी। साहिमापुर केंद्र प्रभारी जय सिंह ने बताया कि अनुमति मिलने के बाद ही केंद्र में किसानों से खरीद की गयी है अब तक केंद्र में 1346.60 कुंतल की खरीद की जा चुकी। केंद्र में किसी बिचैलियों से खरीद नही की गयी। प्रशासन के निर्देश पर फिलहाल सोमवार से खरीद बन्द कर दी गयी है। आरएमओ से अनुमति मिलने के बाद आगे की खरीद की जायेगी।

No comments