Latest News

दिसंबर माह में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद करेगी आंदोलन

कर्मचारियों की समस्याओं की अनदेखी न होगी बर्दाश्त

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । विकास भवन स्थित कार्यालय में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की बैठक हरीराम ओमरे की अध्यक्षता में आहूत हुयी जिसमें सभी ब्लाक अध्यक्ष व मंत्री के साथ ही तहसील अध्यक्ष, मंत्रियों ने भाग लिया। बैठक में राज्य कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान हेतु दिसंबर माह में बड़े आंदोलन की रणनीति को अंतिम रूप दिया गया। बैठक का संचालन मंत्री रहीश कुमार राठौर ने किया।
बैठक में ब्लाक अध्यक्ष जालौन ने विकासखंड जालौन में सचिवों के ग्राम पंचायत आवंटन में आंशिक संशोधन की बात रखी गयी जिसमें बताया गया कि महिला सचिवों की तैनाती दूरस्थ क्षेत्रों में की गयी है जिसके संबंध में जिलाधिकारी को भी इस प्रकरण में हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया गया। फिर भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी। जो कि एक चिंतनीय विषय है। कर्मचारियों को इस प्रकरण पर एकजुट होना चाहिये। बैठक में सभी तहसील अध्यक्षों व मंत्रियों ने बात रखी कि जनपद स्तरीय अधिकारी ग्रामों में भ्रमण के समय

कर्मचारियों को जनता, ग्रामीणों के समक्ष अभद्र एवं आपत्तिजनक टिप्पणी करते हैं जिससे ग्रामीण कर्मचारियों के मान सम्मान को ठेस पहुंचती है। ऐसी स्थिति में ग्रामीण क्षेत्रों में कर्मचारी कार्य करने में असमर्थ है। बैठक में परिषद संरक्षक रामप्रसाद श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद के सभी ब्लाक एवं तहसील अध्यक्ष एवं मंत्री तहसील एवं ब्लाकों में संगठन का विस्तार एक सप्ताह में अवश्य कर लें। असभी अध्यक्ष, मंत्री कर्मचारियों की समस्याओं को संगठन को भेजें। कर्मचारियों की समस्यायें जिले में ज्यादा है जिसके लिये एक बड़े आंदोलन की आवश्यकता होगी। बैठक में परिषद के अध्यक्ष ने बताया कि कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान हेतु एवं संगठन की मजबूती के संबंध में जल्द ही ब्लाक एवं तहसीलों में संगठन की बैठकें भी आयोजित की जायेगी एवं परिषद की बैठक में निर्णय यिा गया कि कर्मचारियों की समस्याओं को देखते हुये जनपद स्तर पर भी परिषद एक बड़े आंदोलन की तैयारी करेगा एवं अले माह दिसंबर में ही हड़ताल, रैली एवं धरने के माध्यम से कर्मचारी एकजुट होकर आंदोलन करेंगे जिसमें जिले के सभी ब्लाक, तहसीलों के कर्मचारी एकजुट होकर जनपद के अधिकारियों को घेरने का कार्य करेंगे।

No comments