Latest News

पूर्व मंत्री के रिश्तेदार से डेढ़ करोड़ फिरौती मांगने वाले तीन गिरफ्तार

मास्टरमाइंड अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर, तलाश जारी 
पुलिस और क्राइम ब्रांच ने सोमवार तड़के जनपद चित्रकूट से किया गिरफ्तार
पकड़े गए आरोपियों ने जुर्म किया स्वीकार

बांदा, कृपाशंकर दुबे । अतर्रा थाना क्षेत्र के दिखितवारा गांव निवासी लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा पूर्व जिला पंचायत सदस्य होने के साथ ही बसपा सरकार में कद्दावर मंत्री रहे बाबू सिंह कुशवाहा के नजदीकी और रिश्तेदार भी बताए गए हैं। लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा को 14 नवंबर को अज्ञात व्यक्ति ने मोबाइल के जरिए धमकी दी थी कि अगर निर्धारित समय पर डेढ़ करोड़ रूपया नहीं दिया गया तो पूर्व जिला पंचायत सदस्य और उसके परिवार को जान से मार दिया जाएगा। इस मामले की जानकारी होते ही पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने टीम का गठन 

पुलिस लाइन में मीडिया से रूबरू एसपी गणेश प्रसाद साहा (बीच में), पीछे खड़े हैं नकाबपोशी फिरौती मांगने वाले आरोपी 
करते हुए क्राइम ब्रांच को भी साथ में लगा दिया। सर्विलांस के आधार पर काल डिटेल को आधार बनाकर पुलिस टीम ने तहकीकात शुरू कर दी। सोमवार सुबह पुलिस टीम ने जनपद चित्रकूट से शातिर अपराधी चंद्रशेखर यादव पुत्र चंद्रभवन निवासी बारामाफी पहाड़ी जनपद चित्रकूट, बल्लू उर्फ जागेश्वर यादव पुत्र रामभजन यादव निवासी ग्राम बारामाफी थाना पहाड़ी जनपद चित्रकूट, और राजा द्विवेदी पुत्र स्वर्गीय जागेश्वर प्रसाद द्विवेदी निवासी ग्राम दिखितवारा थाना अतर्रा हाल मुकाम अतर्रा पीजी डिग्री कालेज के सामने, को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस टीम को पूछताछ के दौरान चंद्रशेखर व बबलू ने बताया कि योजना के मुताबिक एक नया सिम कार्ड अपने पहचान के दुकानदार दीपक मिश्रा निवासी भैंसोधा शिवरामपुर से फेक आईडी पर निकलवाया गया था। सिम कार्ड को एक नए मोबाइल पर लगाया गया था कि पुलिस हम लोगों का पता ना लगा पाए। लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा पूर्व जिला पंचायत सदस्य का मोबाइल नंबर उसके परिवार के बारे में पूरी जानकारी राजा द्विवेदी गया प्रधान ने बताई थी। उसी सिम कार्ड के जरिए फोन करके चंद्रशेखर ने पूर्व जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा से डेढ़ करोड़ रुपए की मांग की थी। 
पुलिस लाइन में मीडिया से रूबरू होते हुए एसपी गणेश साहा ने बताया कि मुख्य अभियुक्त चंद्रशेखर शातिर अपराधी होने के साथ ही हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ यूपी और एमपी में दो दर्जन मुकदमे दर्ज हैं। एक आरोपी मास्टरमाइंड गया प्रसाद यादव पुत्र रामकृपाल यादव निवासी ग्राम पतौरा चैकी भरतपुर थाना कर्वी पुलिस पकड़ से बाहर है। जल्दी उसको गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस टीम में अतर्रा थाना प्रभारी रामेंद्र तिवारी, उपनिरीक्षक चंद्रपाल सिंह, कांस्टेबल संदीप सिंह परिहार व सत्येंद्र कुमार के अलावा उप निरीक्षक अरविंद कुमार त्रिवेदी, उपनिरीक्षक सुजीत सिंह, कांस्टेबल अश्वनी सिंह, कांस्टेबल शैलेंद्र यादव, कांस्टेबल भानु प्रकाश व नितेश समाधिया क्राइम ब्रांच, शैलेंद्र दुबे एसओजी उपनिरीक्षक केसरी कुमार तिवारी, थाना अतर्रा कांस्टेबल अभिषेक पटेल, कांस्टेबल हरेंद्र चैहान, महिला कांस्टेबल अनीता यादव शामिल हैं।

No comments