Latest News

ध्यान करने से मिलती है मानसिक रोग और तनाव से मुक्ति

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सात दिवसीय योग प्राणायाम एवं ध्यान शिविर समापन पर स्कूली छात्र-छात्राओं और विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाओं को योग और ध्यान का आभ्यास कराया गया। प्रशिक्षकों ने कहा कि योग और ध्यान से मानसिक रोग और तनाव से मुक्ति पाई जा सकती है। उधर, जिला अस्पताल में चल रहा तीन दिवसीय योग प्रशिक्षण शिविर समापन पर चिकित्सकों ने योग का महत्व बताया। 
शहर के कालू कुआं स्थित इंटरनेशनल एमिटी बचपन प्ले स्कूल में सात दिवसीय योग प्राणायाम व ध्यान शिविर
जिला अस्पताल में योगाभ्यास करते हुए लोग
शुक्रवार को खत्म हो गया। शिक्षक स्टाफ और बच्चों को भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम विलोम, भ्रामरी, उज्जाई, बह्म प्राणायाम के साथ पंजों, घुटनों, कमर, उंगलियों, गर्दन, कंधे, आंखों, कान समेत पादहस्तासन, त्रिकोणासन, ताड़ासन, वृक्षासन, मकरासन, भुजंगासन, सेतुबंध आसन, उत्तानपादासन, हलासन, चक्की आसन, तितली आसन, मंडूकासन का अभ्यास एवं ध्यान योग करवाया गया। साथ ही दैनिक स्वस्थ दिनचर्या व पौष्टिक आहार की जानकारी दी गई। शिविर समापन पर विद्यालय प्रबंधक विनोद कुमार यादव जी ने कहा जिलाधिकारी के निर्देश पर जिले को योग युक्ता-रोग मुक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है। भारत स्वाभिमान न्यास और
बचपन प्ले स्कूेल में योग करते बच्चे 
पतंजलि योग समिति स्वस्थ भारत समृद्ध भारत की परिकल्पना पर काम कर रही है। कार्यवाहक प्रधानाचार्य वर्षा गुप्ता ने सभी का आभार जताया। उधर, जिला अस्पताल में तीन दिवसीय योग प्रशिक्षण शिविर खत्म हो गया। योगाचार्य रमेश सिंह राजपूत एवं विश्व योग सेवा ट्रस्ट के सहायक योगाचार्यों ने मानसिक रोगियों के लिए योग का प्रशिक्षण देते हुए बताया की योग और प्राणायाम के जरिए मानसिक रोगों से निजात पाई जा सकती है। सीएमएस डा.संपूर्णानंद मिश्र ने कहा कि योग स्वस्थ रहने की उत्कृष्ट दवा है। एनसीडी जिला नोडल आफीसर डा.एमसी पाल ने योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाने की बात कही। डा.एसपी गुप्ता ने लोगों को योग से जुड़ने की सलाह दी। 

No comments