Latest News

उम्र कैद की सजा फांसी में बदलने की अपील मंजूर

राज्य सरकार को नोटिस जारी

हमीरपुर, महेश अवस्थी - सामुहिक हत्याकाण्ड में उम्रकैद की सजा काट रहे भाजपा के पूर्व विधायक अशोक चंदेल व अन्य को मृत्युदण्ड की सजा दिये जाने के लिये दायर विशेष अनुमति याचिका में सर्वोच्च न्यायालय ने अपील स्वीकार कर राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है। मामले की सुनवाई के लिये अब पूर्व विधायक आदि की अपील के साथ इसे शामिल कर लिया गया है। हमीरपुर में 26 जनवरी 1997 को देर शाम मुख्यालय के सुभाष बाजार स्थित नसीम बन्दूक वाले दुकान के सामने सामुहिक हत्याकाण्ड में भाजपा नेता राजीव शुक्ला के बड़े भाई राजेश शुक्ला, राकेश शुक्ला, भजीता गुड्डा, श्रीकान्त पाण्डेय और वेद प्रकाश नायक की हत्या हुई थी।

इस घटना में राजीव शुक्ला व रविकांत पाण्डेय गोली लगने से घायल हुये थे। सामुहिक हत्याकाण्ड में पूर्व विधायक अशोक सिंह चंदेल, श्याम सिंह, साहब सिंह, झण्डू सिंह, पूर्व विधायक का चालक रूक्कू, शराब कारोबारी रघुवीर सिंह, आशुतोष सिंह उर्फ डब्बू पुत्र रघुवीर सिंह, कुलदीप सिंह, उत्तम सिंह, भानु सिंह और नसीम को नामित किया गया था। दौरान मुकदमा झण्डू सिंह की मौत हो चुकी है वहीं रूक्कू पहले से ही आजीवन कारावास की सजा में हमीरपुर कारागार में निरूद्ध है। इस मामले में 19 अप्रैल को हाईकोर्ट इलाहाबाद की डबल बैंच ने पूर्व विधाक सहित नौ दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। जो 13 मई 2019 से जेल में बन्द हैं। पूर्व विधायक आगरा जेल में, डब्बू सिंह फतेहगढ़ जेल में जब कि अन्य जिला कारागार में हैं। सामुहिक हत्याकाण्ड के वादी राजीव शुक्ला ने बताया कि पूर्व विधायक आदि को उम्र कैद की सजा से मृत्युदण्ड की सजा में तब्दील किये जाने के लिये विशेष अनुमति याचिका सर्वोच्च न्यायालय की डबल बैंच में दायर की गई। जस्टिस मोहनएमशांतनुगोदर व जस्टिस सुभाष रेड्डी ने मामले की अपील स्वीकार कर राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है। आजीवन कारावास की सजा से मुत्युदण्ड की सजा के लिये डबल बैंच ने अपील को पूर्व विधायक आदि की अपील के साथ शामिल कर लिया है। 

No comments