भांग दुकानों पर बिक रहे गांजा पर डीएम ने मांगा जवाब - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, November 23, 2019

भांग दुकानों पर बिक रहे गांजा पर डीएम ने मांगा जवाब

बिन्दुवार समीक्षा कर अधिकारियों को दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कर करेत्तर, राजस्व वसूली, अभियोजन, कानून व्यवस्था तथा हवाई पट्टी के विस्तारीकरण से संबंधित बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई।
जिलाधिकारी ने हवाई पट्टी के विस्तारीकरण में वृक्षों के कटान के प्रगति कम होने पर लौंगिग प्रबंधक वन निगम को निर्देश दिये कि तत्काल पेड़ों का कटान करा दिया जाये। राइट्स संस्था मिट्टी डलवा दें। उन्होंने कहा कि जलापूर्ति, विद्युत, सुरक्षा, पहुॅंच मार्ग व प्रकाश व्यवस्था आदि कार्य को सभी संबंधित अधिकारी एक सप्ताह के अंदर पूरा करें। अभियोजन एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा पर कहा कि शासन स्तर से निर्देश प्राप्त हुआ हे कि कानून व्यवस्था की बैठक में जन प्रतिनिधियों को भी बुलाया जाये और उसका कार्यवृत्त भी शासन को भेजें। अपर पुलिस अधीक्षक से कहा कि थानों पर जनता के प्रति अच्छा व्यवहार रहे। अवैध खनन पर अधिक से

अधिक कार्यवाही करायी जाये। उप जिलाधिकारी व पुलिस क्षेत्राधिकारी टीम गठित कर कार्यवाही करायें। खाद्य एवं औषधि प्रसाधन में निरीक्षण कम हुए हैं इस पर कार्यवाही करायें। जिला शासकीय अधिवक्ताओं से कहा कि वादों का निस्तारण अधिक से अधिक करायें। दोषी को सजा मिलना चाहिए। भू माफियाओं पर कार्यवाही हो। कामतानाथ परिक्रमा मार्ग में जो अतिक्रमण है उसमें नोटिस देकर स्थायी, अस्थायी एक सप्ताह के अन्दर हटा लें। अवैध शराब व भांग की दुकानों पर गांजा बिक रहा है, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। अपर जिलाधिकारी से कहा कि जवाब तलब किया जाये। बैंक देयों की उपलब्धि को बढ़ायें। नगर निकाय की वसूली पर कहा कि सभी अधिशाषी अधिकारी गृहकर को बोर्ड की बैठक में बढ़ाने का प्रस्ताव रखें। अगर बोर्ड नहीं बढ़ाता है तो शासन को पत्र भेजकर स्वीकृति करा ले। अधिशाषी अधिकारी राजापुर के कार्यों के प्रति रूचि न लेने पर अपर जिलाधिकारी से कहा कि निलम्बन की संस्तुति शासन को भेजें। तालाबों से अतिक्रमण हटाया जाये। कृषक दुर्घटना बीमा योजना पर कोई आवेदन लम्बित न रहे। हदबंदी के वादों को एक सप्ताह के अंदर निपटायें। गोवंश सुरक्षा पर उप जिलाधिकारियों से कहा कि कोई भी गोवंश की भूख, प्यास व ठण्ड से मृत्यु नहीं होना चाहिए। बैठक में संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages