Latest News

लॉलीपॉप्स स्नेह फेस्टिविटी ऑफ इंडियन संस्कृति का आयोजन

बच्चों के लिए कला मात्र मनोरंजन ही नहीं बल्कि उत्तम स्वास्थ्य के परिचायक होते हैं शारीरिक और मानसिक रुप से सूचना आत्मक बच्चे ही पूर्ण मनोयोग से अपनी दिनचर्या उल्लास पूर्ण व्यतीत करते हैं और जहां बात नन्हे-मुन्ने बच्चों की हो तो सुनियोजित विभिन्न गतिविधियां ही उनके विकास एवं ज्ञानार्जन के प्रथम सोपान है बच्चों में संस्कार व भारतीय संस्कृति की आत्मसार करने के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए लॉलीपॉप्स ने फेस्टिविटी ऑफ इंडियन संस्कृति का आयोजन किया
कानपुर गौरव शुक्ला:- आईबीसी द्वारा भारत के सबसे विश्वसनीय विद्यालय के खिताब से नवाजे जाने वाले के0डी0एम0ए0 के लॉलीपॉप्स मलिकपुरम शाखा में इस वर्ष भी एक सुंदर कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें बच्चों ने स्वयं ही एंकरिंग व मनोहारी नृत्य और संगीत कला का प्रदर्शन कर सबको मंत्र मुक्त कर दिया शानदार लाइटिंग मनभावन नृत्य और मधुर संगीत ने अभिभावकों को झूमने पर मजबूर कर दिया व बच्चों ने सभी से प्रशंसा बटोरी
भारत की संस्कृति भव्यता का परिचय देते हुए जहां बच्चे और ओनम व बैसाखी जैसी थीम पर थिरकते नजर आए वहीं शिवरात्रि का शिव तांडव करते शंकर और गणों ने सबकी तालियां बटोरी विद्यालय के क्वायल ग्रुप ने वसुधैव कुटुंबकम गीत गाकर दर्शकों को भारत की उत्कर्ष संस्कृत का संदेश दिया
विद्यालय की तीनों शाखाओं की प्रधानाचार्य सुश्री प्रियंका सहगल प्रधानाचार्य के0डी0एम0ए0 इंटरनेशनल सुश्री सुप्रिया राजा प्रधानाचार्य के0डी0 एम0 ए0 वर्ल्ड एवं प्रधानाचार्य सुश्री रोमी महाजन दिल लॉलीपॉप्स मलिकप्पुरम ने दी प्रवचन वह दादी माँ कर्म देवी को पुष्प अर्पण कर फेस्टिविटी ऑफ इंडियन संस्कृत का उद्घाटन किया
प्रधानाचार्य सुश्री रोगी महाजन ने सभी का स्वागत किया तथा कार्यक्रम की सफलता का श्रेय विद्यालय के बच्चों एवं शिक्षकों को अथक प्रयासों को दिया
दिल लॉलीपॉप्स मलिकपुरम बच्चों के सर्वागीण विकास की तरफ निरंतर अग्रसर है तथा अपनी गुणवत्ता के लिए प्रतिबंध है इस बात को पूर्णतया सिद्ध किया कार्यक्रम के सफल आयोजन ने दर्शकों ने निरंतर हर्षोल्लास से बच्चों का उत्साहवर्धन किया कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से हुआ

No comments