Latest News

बच्चों को स्वस्थ्य रखना हो तो गर्भवती महिला को बचायें कुपोषण से

हेल्दी बेबी शो में बच्चे हुये पुरस्कृत

हमीरपुर, महेश अवस्थी । नवजात शिशु देखभाल सप्ताह में जिला महिला चिकित्सालय में हेल्दी बेबी शो प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें छह माह से लेकर एक वर्ष तक के बच्चों ने भागीदारी की। मुख्य चिकित्साधीक्षक डा. पीके सिंह ने कहा कि जन्म के तुरन्त बाद नवजात को माँ दूध देना चाहिये और उसे माँ के सम्पर्क में रखना चाहिये। इससे नवजात शुरूआती चरण में आने वाले तमाम खतरों से सुरक्षित रहता है। शिशु के पालन पोषण में माँ की प्रमुख भूमिका होती है। नवजात शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ डा.आशुतोष निरंजन ने कहा


कि कुपोषण बड़ा खतरा है। गर्भावस्था के समय खान-पान में विशेष ध्यान रखना चाहिये। इससे स्वस्थ्य बच्चे जन्म लेते हैं। नवजात शिशु अगर कुपोषण के शिकार हो गये तो उनके कमजोर होने का खतरा बना रहता है। छह माह के बाद बच्चों को उपरी आहार केला, खिचड़ी दाल देना चाहिये और समय-समय पर जानलेवा बीामरियों से बचाव के लिये टीके भी लगवाना चाहिये। प्रसूति रोक विशेषज्ञ डा. ने कहा कि महिला गर्भावस्था के दौरान होने वाली जांचों में कोताही न बरतें, इससे जच्चा-बच्चा दोनों के लिये खतरा हो सकता है। सेण्टर की आकांक्षा यादव ने स्टाफ को लेबररूम से जूड़ी जानकारियां दीं। हेल्दी बेबी शो में जागृति प्रथम, मयंक द्वितीय और जुड़वा बच्चियां रिद्धी-सिद्धी ने तीसरा स्थान पाया। इन सभी को पुरस्कृत किया। अन्य बच्चों को भी पुरस्कार दिये गये। डीसीपीएम मंजरी गुप्ता, एनआरसी की डाईटिशियन प्रतिभा तिवारी भी मौजूद रहीं।

No comments