Latest News

संविधान दिवस पर अधिकारियों, कर्मियों ने ली शपथ

तहसील सभाकक्ष  व कोतवाली कालपी में मनाया गया संविधान दिवस

कालपी (जालौन), अजय मिश्रा । भारत का संविधान, संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को आंशिक रूप से लागू किया गया और 26 जनवरी 1950 को पूर्ण रूप से देश में लागू कर दिया गया  उक्त बात उप जिलाधिकारी कौशल कुमार ने तहसील सभा कक्ष मंे अधिवक्ताओं व कर्मचारियों के बीच संविधान दिवस मनाते हुये कही तथा मौजूद लोगों को संविधान दिवस की शपथ दिलाई। 
   
    एसडीएम कौशल कुमार ने  संविधान पर प्रकाश डालते हुये कहा कि संविधान द्वारा सम्पूर्ण देश की शासन व्यवस्था को  नियंत्रित किया जाता है, संविधान दो प्रकार के होते है, एक लिखित और दूसरा अलिखित, विश्व का प्रथम लिखित संविधान संयुक्त राज्य अमेरिका का है, तथा संसार का सबसे बड़ा लिखित संविधान भारत का है। भारतीय संविधान सभा के अस्थायी अध्यक्ष सच्चिदानंद सिन्हा को निर्वाचित किया गया था, उसके बाद डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को संविधान सभा का स्थायी अध्यक्ष बनाया गया था, सविधान सभा की प्रारूप समिति के अध्यक्ष डॉ. भीमराव अंबेडकर जी थे। इसी क्रम में तहसीलदार शशिविन्द द्विवेदी ने अपने संबोधन मे कहा कि भारत के संविधान के बारे मे सभी को जानकारी देते हुये कहा कि संविधान दिवस हर साल 26 नवंबर को मनाया जाता है वर्ष 1949 में 26 नवंबर के दिन ही भारत के संविधान मसौदे को अपनाया गया था संविधान सभा ने 2 साल, 11 माह और 18 दिन में हमारे संविधान को तैयार किया था भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 से लागू किया गया  जिससे आज हम आप संविधान दिवस के रुप मे मना रहे है। इस मौके पर तहसील राजस्व विभाग के अधिकारी, कर्मचारी, अधिवक्तागण मौजूद रहे इसी प्रकार कोेतवाली कालपी मे भी बडे़ धूम-धाम से संविधान दिवस मनाया गया तथा संविधान दिवस की शपथ दिलाई गई।

No comments