Latest News

भाजपा ने जिलाध्यक्ष बनने के लिए रखी शर्त, दावेदारों में खलबली, दो बार की सक्रिय सदस्यता जरूरी

कानपुर में बुधवार को होने वाले भाजपा जिलाध्यक्षों के चुनाव में दावेदारों को पार्टी ने बड़ा झटका दिया है। सोमवार को जारी नई शर्तों के अनुसार सरकारी विभागों में रजिस्टर्ड ठेकेदार जिलाध्यक्ष के दावेदार नहीं बन पाएंगे। 
कानपुर गौरव शुक्ला:-महानगर की दोनों इकाइयों (उत्तर और दक्षिण) के अलावा नगर ग्रामीण इकाई और देहात इकाई में भी दावेदारों में पार्टी की नई गाइड लाइन से काफी हलचल है। चर्चा है कि उत्तर और दक्षिण इकाई के 35 दावेदारों में से करीब 10 प्रतिशत सरकारी विभागों में ठेकेदार के रूप में रजिस्टर्ड हैं।

इन लोगों की दावेदारी खत्म हो गई है। अब जो बचे हैं, वे इसलिए परेशान हैं कि अभी नामांकन और चुनाव में दो दिन बचे हैं। ऐसे में पार्टी कुछ और शर्त ना लगा दे। पार्टी ने जिलाध्यक्ष की दावेदारी के लिए दो बार सक्रिय सदस्य होने की पहली शर्त लगाई थी।

चुनाव अधिकारी अमरनाथ यादव ने बताया कि 20 को नामांकन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। जिलाध्यक्ष पद के लिए आम सहमति बनाने की कोशिश है। यदि जरूरत पड़ती है तो चुनाव कराया जाएगा। जिलाध्यक्ष पद पर कौन मनोनीत होगा, इसकी घोषणा बाद में की जाएगी।

No comments