Latest News

प्रेमी संग मिलकर पत्नी से करायी थी ओंकार की हत्या

पुलिस ने घटना का अनावरण कर तीन हत्यारोपियों को किया गिरफ्तार

फतेहपुर, शमशाद खान । बिन्दकी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खूंटा में तीन दिन पूर्व ग्रामीणों की सूचना पर खेत से बरामद हुयी युवक के हत्यायुक्त शव का रविवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस ने तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मृतक की पत्नी ने अपने प्रेमी संग मिलकर भाड़े के व्यक्ति से पति की हत्या करवायी थी और साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से उसका शव लाकर खूंटा गांव में फेंक दिया था। 
बिन्दकी कोतवाली में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने बताया कि बीते इक्कीस नवम्बर को बिन्दकी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खूंटा में एक व्यक्ति की लाश बरामद हुयी थी। गांव खूंटा में शव बरामद होने के सम्बन्ध में उमाशंकर पुत्र स्व0 जगदीश निवासी नरायन ग्राम हसोलेखेड़ा मजरे खूंटा ने

पत्रकारों से बातचीत करते एएसपी चक्रेश मिश्रा। 
कोतवाली में अज्ञात मुकदमा पंजीकृत करवाया था। जिसकी पहचान कराने हेतु काफी प्रयास किया गया। पुलिस को सफलता भी मिली और शव की शिनाख्त ओंकार विश्वकर्मा पुत्र स्व0 राम कृपाल निवासी ग्राम सेलावन कोतवाली बिन्दकी के रूप में हुयी थी। बिन्दकी पुलिस घटना का सफल अनावरण करने में लगी हुयी थी। एएसपी ने बताया कि मृतक ओंकार विश्वकर्मा की पत्नी शारदा देवी के अवैध सम्बन्ध विमलकांत उर्फ रिंकू त्रिवेदी पुत्र संतोष कुमार निवासी ग्राम सेलावन के साथ थे। ओंकार द्वारा अपनी पत्नी व रिंकू को आपत्तिजनक स्थिति में देखने के बाद पत्नी के ऊपर काफी गुस्सा हुआ। रिंकू मौके से फरार हो गया। इसी बात पर शारदा देवी ने अपने प्रेमी रिंकू के साथ मिलकर अपने पति ओंकार को रास्ते से हटाने के लिए योजना बनायी। जिस पर रिंकू ने अपने दोस्त विजयपाल चमार पुत्र स्व0 कालीदीन निवासी सीतापुर थाना कोतवाली बिन्दकी को दस हजार रूपये नकद व दो लाख रूपये हत्या के बाद देने की बात पर राजी कर षड़यंत्र रचकर ओंकार की गला रेतकर हत्या कर दी तथा शव को घसीटकर खेत में छिपाकर डाल दिया। विवेचना में सारी घटना खुलकर सामने आ गयी और प्रभारी निरीक्षक नन्दलाल सिंह ने हमराही सिपाहियों के साथ तीनों अभियुक्तों को खजुहा मेला मैदान शराब ठेका के सामने पुलिया पर गिरफ्तार कर लिया। घटना का खुलासा करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक के अलावा उपनिरीक्षक सत्यपाल सिंह, हेड कांस्टेबिल शाहनवाज हुसैन, कांस्टेबिल राजेन्द्र प्रताप सिंह, महिला कांस्टेबिल रीतू यादव, सुचिता पाल भी शामिल रहीं।

No comments