Latest News

हेल्प समाज सेवा संस्था ने एक सैकड़ा जरूरतमंदों को बांटे कम्बल

फतेहपुर, शमशाद खान । पैगम्बर-ए-इस्लाम मोहम्मद सल्ल0 के जन्मदिन के अवसर पर हाईटेक एजुकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसाइटी (हेल्प समाज सेवा संस्था) के तत्वाधान में वीआईपी रोड स्थित वीआईपी मैरिज हाल में रविवार को कम्बल वितरण समारोह का आयोजन किया गया। 
समारोह में जाति एवं धर्म से ऊपर उठकर गरीबों को कम्बल वितरण करते हुए शहरकाजी शहीदुल इस्लाम अब्दुल्लाह ने कहा कि इंसान की इंसानियत सबसे बड़ा धर्म है। इसलिए एक इंसान की परेशानी का एहसास दूसरे इंसान को होना चाहिए और उसे जरूरतमंद की मदद के लिए सदैव तेयार रहना चाहिए। इस्लाम गरीबों की सहायता करने की शिक्षा देता है। हेल्प समाज सेवा काफी समय से ऐसे कार्य करती आ रही है जिसके लिए संस्था के लोग बधाई के पात्र हैं। मौलाना मोईद कासमी ने कहा कि नबी करीम सल्ल0 ने फरमाया है कि सभी इंसान एक मां-बाप की संतान हैं और सभी बराबर हैं। जाति, रंग, भाषा एवं धर्म के आधार पर कोई छोटा बड़ा

गरीबों को कम्बल वितरित करते संस्था के लोग। 
नहीं होता है। मानव समाज में इस समानता को हजरत मोहम्मद सल्ल0 ने स्थापित किया और आपस में भेदभाव न करने का संदेश दिया। मौलाना हबीबुल इस्लाम ने कहा कि आज गरीबों की सहायता करके प्रचार-प्रसार करना फैशन सा बनता जा रहा है। जबकि यह गलत है। रसूल सल्ल0 का इरशाद है कि गरीबों की मदद शोहरत के लिए नहीं बल्कि नेकी के लिए करें। इस पर हेल्प समाज सेवा ंसस्था अमल करने का प्रयास कर रही है। यह सराहनीय कदम है। अंत में संस्था के अध्यक्ष कफील अहमद ने कहा कि लगभग एक सैकड़ा गरीब महिला पुरूषों को कम्बल वितरित किये गये हैं। सर्दी पड़ने पर जो भी जरूरतमंद सामने आयेगा उसे भी कम्बल देकर सर्दी के मौसम में राहत पहुंचाने का काम संस्था द्वारा किया जायेगा। उन्होने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कम्बल वितरण समारोह का समापन किया। इस मौके पर डा0 रफीक अहमद, आसिफ एडवोकेट, मो0 फारूख खान, वासिफ हुसैन, महमूद हुसैन, इरफान खान, फैज खान, रईस अहमद, मोबीन अहमद, परवेज अहमद, अली हुसैन आदि रहे। समारोह का संचालन अब्दुर्रहमान ने किया। 

No comments