Latest News

डग्गामार, स्कूली वाहन सड़कों में भर रहे फर्राटे, राहगीर, बच्चों की जान खतरें में

जान हथेली में धरकर राहगीर व स्कूली बच्चे डग्गामार वाहनों से कर रहे सफर 
डग्गामार वाहनों के प्रति प्रशासन हुआ सख्त, होगी कार्यवाही
समाजसेवियों ने डग्गामार वहानों के खिलाफ जिला प्रशासन को लिख खत

कालपी (जालौन), अजय मिश्रा । कालपी नगर व ग्रामीण क्षेत्र में मानक विहीन डग्गामार वाहन फर्राटा भर रहे है जिसमें भूंसे की तरह सवारियां लाद लेते है जिससें लोग जान हथेली में धर कर यातायात करने को मजबूर हैं। वही मासूमों के जीवन से खिलवाड़ कर रहें है। इस ओर प्रशासन का ध्यान आर्कषण करानें हेतु जिला प्रशासन से समाजसेवी संगठन के लोगों ने डग्गामार वहानों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। 
     गौरतलब हो कि कालपी नगर व क्षेत्र में अधिकांश चलने वाले सवारी वाहनों के स्वामियों के पास न तो परमिट, बीमा, फिटनेस है न ही चालक के पास लाईसेंस है फिर भी प्रशासन की आंख में धूल झोंक कर उक्त

वाहन फर्राटा भर रहे है। इतना ही नही अधिकांश वाहन स्कूली बच्चों को स्कूल ले आने व ले जाने के लिये अभिभावकों से स्कूल प्रबंधतंत्र मोटी रकम लेकर क्षमता से ज्यादा मासूमों को बैठाकर बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर जान जोखिम में डाल रहे है। जानकारी के अनुसार कालपी नगर व क्षेत्र के अलावा उरई शहर से आने वाले विद्यालय वाहनों में यातायात के नियमों को दरकिनार कर बच्चों को क्षमता से ज्यादा भूसे की तरह लाद कर ले जाने व ले आने का कार्य किया जा रहा है अधिकांश उक्त वाहनों में न तो गाड़ी के कोई कागजात है न बीमा है, न परमिट है, न ही गाड़ी का फिटनेस व न ही चालक के पास लाईसेंस है ऐसे वाहन स्वामियों के खिलाफ सामजसेवी पं नरेन्द्र कुमार तिवारी, महेन्द्र कुमार गौतम, लालजी धवन, के.के. निषाद, उमाशंकर निषाद आदि लोगों ने जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर व जनपद के बेहद ईमानदार पुलिस अधीक्षक डा. सतीश कुमार से मांग कर हुये पत्र लिखा है कि कालपी नगर, क्षेत्र व उरई से आने वाले विद्यालय वाहनों के कागजात की जांच की जावें तथा यातायात के नियमों को पालन करानें हेतु उन्हे दिशा निर्देश दिये जावें जथा वाहन स्वामियों के विरुद्ध कार्यवाही की जावें जिससे आम जन मानस व देश के भविष्य कहे जाने वाले नन्ने-मुन्ने बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न हों। इस संबंध में कालपी सर्किल से पुलिस क्षेत्राधिकारी संजय कुमार शर्मा का कहना है कि यातायात माह चल रहा है जिसमें सभी लोगों को यातायात के प्रति जिला प्रशासन व स्थानीय प्रशासन द्वारा जागरुक किया जा रहा है तथा वहानों के कागजात भी देखें जा रहे है स्कूली वाहनों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मानक पूरे न होने पर कार्यवाही की जा रही है। 

No comments