Latest News

सीबीआई जांच में सपा व भाजपा नेताओं के नाम आये सामने

जाँच का दायरा बढ़ने से मलाई काटने वाले सहमे

फतेहपुर, शमशाद खान । खनन घोटाले की जांच के लिये पिछले तीन दिनों से जनपद में डेरा डाले सीबीआई टीम लगतार खनन कार्यो से जुड़े दस्तावेजों के सत्यापनों के साथ-साथ पट्टाधारको से लगातार पूछताछ कर रही है। खनन कारोबार से जुड़े लोगों के अलावा बड़ी संख्या में सपा व भाजपा नेताओं के भी नाम सामने आने से सीबीआई की नजरे इन नेताओं पर टेढ़ी हो चुकी है। 2012 से 2014 के सपा शासन के दौरान खनन के मनमाने पट्टे दिए जाने के साथ अवैध तरीके से मौरंग घाटो से जमकर लाल सोने का काला कारोबार किया गया था। जनपद दौरे पर आए तात्कालीन सीएम अखिलेश यादव के संज्ञान में मामला लाये जाने के बाद जहा कमिश्नर व जिलाधिकारी से लेकर खनन अधिकारी व अन्य जिम्मेदारों के विरुद्ध कार्रवाई की गयी थी। वर्ष 2017 में हाईकोर्ट 

निरीक्षण भवन से मोरंग घाट के लिए निकलती सीबीआई टीम।
के संज्ञान लेने पर प्रदेश सरकार द्वारा मामले को सीबीआई के सुपुर्द कर दिया गया। जांच के लिये सीबीआई की टीम कई बार जनपद के दौरा कर चुकी है। सीबीआई जाँच में पट्टाधारकों के अलावा मौरंग सिंडिकेट से जुड़े लोगों व अधिकारियों के नाम सामने आये है। जांच आगे बढ़ने के बाद एक बार फिर से सीबीआई की टीम पिछले तीन दिनों से डाक बंगले में डेरा डाले है। टीम द्वारा खनन अधिकारी मिथिलेश पाण्डेय से खनन के रवन्ने व अन्य दस्तावेजों को मांगकर जांच की गयी जबकि खनन के पट्टाधारको शिव सिंह व सुखराज निषाद से खनन में सहयोगियों के नामो एग्रीमेंट के कागजात समेत अन्य दस्तावेजों की मंगाकर जांच की जा चुकी है। जांच में खनन कारोबारियों द्वारा समाजवादी पार्टी के नेताओ के अलावा माननीयों समेत बड़ी संख्या में भाजपा नेताओं के नाम लिए जाने के बाद सीबीआई की निगाहे उक्त लोंगो पर लग चुकी है। ऐसे सफेदपोश नेताओं की कार्यशैली व इतिहास को टीम द्वारा खंगालना शुरू कर दिया है। सीबीआई जांच में दिन ब दिन खनन घोटालो में माफियाओ, नेताओं, अफसरों के अलावा बड़ी संख्या में सफेदपोशों के नाम सामने आने पर खनन कार्यो में लूट मचाने, मलाई काटने वालो में हड़कम्प मचा हुआ है।

No comments