Latest News

चौथे चरण के आन्दोलन में लेखपालों ने धरना देकर निकाला कैंडिल मार्च

 मुख्यमंत्री को भेजा मांगों का ज्ञापन 

फतेहपुर, शमशाद खान । लम्बित समस्याओं का निस्तारण शासन द्वारा न किये जाने पर प्रान्तीय आहवान पर पांच नवम्बर से पांच दिसम्बर तक पांच चरणों में चल रहे आन्दोलन के क्रम में मंगलवार को चैथे चरण के तहत लेखपालों ने तहसील मुख्यालय पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। जहां प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी। तत्पश्चात शाम नई तहसील परिसर से पटेलनगर चैराहे तक कैंडिल मार्च भी निकाला गया। 
उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के बैनर तले उपशाखा सदर के अध्यक्ष रामनरेश निषाद की अगुवई में प्रातः दस बजे से सभी लेखपालों ने तहसील मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। धरने को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा

तहसील मुख्यालय पर धरना देते लेखपाल। 
कि पिछले काफी समय से लेखपाल अपनी मांगों को लेकर आवाज उठाते चले आ रहे हैं। शासन से वार्ता होने के बावजूद अब तक एक भी मांग का निस्तारण नहीं किया गया। प्रान्तीय नेतृत्व के आहवान पर पांच चरणों में मांगों को लेकर आन्दोलन किया जा रहा है। चैथे चरण के तहत आज धरना-प्रदर्शन व कैंडिल मार्च निकाला जा रहा है। वक्ताओं ने कहा कि जब तक मांगे पूरी नहीं होगी तब तक लेखपालों का संघर्ष जारी रहेगा। तत्पश्चात तहसील अध्यक्ष व मंत्री राजाराम ने उपजिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन प्रेषित किया। शाम लगभग पांच बजे सदर तहसील परिसर से सभी लेखपालों ने कैंडिल मार्च निकाला। कैंडिल मार्च नई तहसील से शुरू होकर बुलेट चैराहा, श्याम नर्सिंग होम होते हुए कलेक्ट्रेट रोड से पटेलनगर चैराहा पहुंचा। जहां सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा के पास कैंडिल मार्च का समापन किया गया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष कंधईलाल पाल, जिला मंत्री वीरेन्द्र सिंह, संतोष कुमार, आशुतोष कुमार, सुरेन्द्र श्रीवास्तव, अनिल कुमार, विनोद प्रसाद सहित बड़ी संख्या में लेखपाल मौजूद रहे। 

No comments