Latest News

गोबर गैस प्लांट निर्माण का शुरू करें कार्य: डीएम

लापरवाह सेवा प्रदाता को हटाकर तीन दिन में करायें टेण्डर
संविदा से नहीं सेवा प्रदाता से कर्मचारियों की हो नियुक्ति
स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी की बैठक संपन्न

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट  सभागार में जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेन्ट कमेटी की बैठक सम्पन्न हुयी।
जिलाधिकारी ने वित्तीय वर्ष 2018-19 व 2020 में योजनान्तर्गत उपलब्ध धनराशि के सापेक्ष अद्यतन घटकवार व्यय एवं अवशेष धनराशि का विवरण अनुमोदनार्थ समिति के समक्ष एसबीएस खातों व ईबीआर खातों की धनराशि की जानकारी ेकी। वित्तीय वर्ष की वार्षिक कार्ययोजना का अनुमोदन, आईईसी गतिविधियां कराये जाने एवं उनके भुगतान पर विचार, वित्तीय वर्ष 2018-19 का आॅडिट कराये जाने के संबंध में व अन्य विषयों पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने अधिकारियो को निर्देश दिये कि स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाये। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि जो सेवा प्रदाता द्वारा सही से कार्य नहीं किया जा रहा है उसको हटाकर तीन दिन के अंदर टेण्डर प्रक्रिया की कार्यवाही की जाये। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के लिए डीसीएनआरएलएम को नोडल अधिकारी नामित करें। 270 गौशाला स्थायी, अस्थायी संचालित हैं। वहां पर गोवर्धन योजना के अंतर्गत गोबर गैस प्लान्ट का निर्माण कराया जाये। गाय के गोबर से कई चीजों का निर्माण किया जा रहा है। इस संबंध में सवयं सेवी संस्थाओं से

सम्पर्क कर इस योजना को लागू कराया जाये। स्वेच्छाग्राहियों का भुगतान जो अवशेष है उसको तत्काल करायें और इनसे प्रचार प्रचार भी हो। जिला कन्सलटेंट को ब्लाक आवंटन करें जो प्रतिदिन गांव का भ्रमण करके जिला पंचायत राज अधिकारी को उपलब्ध करायें और वह रिर्पोट दें। मूल पदो ंके सापेक्ष जिन पदों की आवश्यकता है उन्हें रखा जाये। जो कार्य नहीं कर रहे हैं उन्हें तत्काल हटा दें। नये मैन पावर के चयन एवं तैनाती की कार्यवाही पर अग्रिम आदेशों तक कोई कार्यवाही न की जाये। कर्मचारियों को संविदा के आधार पर नहीं सेवा प्रदाता के माध्यम से रखें। उन्होंने ब्लाक प्रमुखों से कहा कि गोशाला निर्माण पर कार्य करें। जो छोटी ग्राम पंचायतें हैं उनमें धनराशि कम आती है उनका सहयोग करें। गो सेवा गोविन्द सेवा है। इस जनपद की अन्ना प्रथा पर सभी लोगों को सहयोग करने की जरूरत है। जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि एक पत्र ग्राम प्रधानों को जारी करायें। ताकि वह गांव के लोगों से धान के पुआल की व्यवस्था करा लें। पूरे प्रदेश में जनपद में सबसे अधिक बेसहारा पशु हैं। ग्राम प्रधान अच्छा सहयोग कर रहे हैं। जिन ग्राम पंचायतों में जानवरों को छोड़ दिया है खण्ड विकास अधिकारी तत्काल उस पर कार्यवाही करें। ग्रामों में जैविक खेती करायी जाये। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन की गाइड लाइन के अनुसार सभी कार्य कराये जायें। बैठक में सीडीओ डा महेन्द्र कुमार, सीएमओ डा विनोद कुमार, पीडी अनय कुमार मिश्रा, डीपीआरओ राज बहादुर सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

No comments