Latest News

परीक्षा केन्द्र बनाने के पूर्व नियमानुसार विद्यालयों का करें निरीक्षण: डीएम

हमीरपुर, महेश अवस्थी । हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की वर्ष 2020 की बोर्ड परीक्षा  की तैयारियों के दृष्टिगत एक आवश्यक बैठक जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में संपन्न हुई। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि बोर्ड परीक्षा हेतु राजकीय व सहायता प्राप्त विद्यालयों को प्राथमिकता से केंद्र बनाया जाए । उन्होंने कहा कि विद्यालयों के केंद्र बनाने पहले विद्यालयों में नियमानुसार सारी सुविधाओं की एसडीएम, तहसीलदार द्वारा जांच कर ली जाए। विद्यालयों  एसडीएम / तहसीलदार द्वारा भौतिक सत्यापन/ में  इंफ्रास्ट्रक्चर ,फर्नीचर की उपलब्धता है अथवा नहीं इसकी जांच की  जाए। विद्यालयों को उनकी क्षमता के अनुसार ही छात्र संख्या आवंटित की जाए ।विद्यालयों में बाउंड्री वाल, सीटिंग अरेंजमेंट आदि की उपलब्धता

अनिवार्य रूप से होनी चाहिये। पूर्व में जो कालेज कभी नकल आदि में संलिप्त रहे हैं उनको कतई केंद्र न बनाया जाए। विद्यालयों में ब्रॉडबैंड राउटर ,सीसीटीवी (वॉइस रिकॉर्डर सहित) आदि अनिवार्य रूप से लगे होने चाहिए जिन विद्यालयों में राउटर ब्रॉडबैंड आदि नहीं लगे हैं वह 1 सप्ताह में राउटर और ब्रॉडबैंड अनिवार्य रूप से लगा लें अन्यथा  उनका केंद्र निरस्त कर दिया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि परीक्षा केंद्र आवंटन का कार्य नियम के अनुसार सारी सुविधाओं को देखकर ही किया जाए किसी के दबाव में आकर केंद्र न बनाया जाए।
ज्ञात हो कि वर्ष 2020 के बोर्ड एग्जाम में जनपद में कुल 40 केंद्र प्रस्तावित है।इन केंद्रों पर हाई स्कूल के 16405 छात्र तथा इंटरमीडिएट के 14964 छात्र जनपद में इस  प्रकार इस वर्ष कुल 31369 छात्र बोर्ड एग्जाम की परीक्षा देंगे ।ज्ञात हो कि गत वर्ष 2019 में कुल 41 विद्यालयों को केंद्र बनाया गया था । गत वर्ष बोर्ड परीक्षा हेतु 29699 छात्र पंजीकृत थे। इस दौरान अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव ,उप जिलाधिकारी राठ ,मौदहा व डिप्टी कलेक्टर अशोक यादव ,जिला विद्यालय निरीक्षक सहित अन्य संबंधित अधिकारी/ कर्मचारी गण मौजूद रहे ।

No comments