पत्नी की हत्या कर पति ने कर ली आत्महत्या - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, November 17, 2019

पत्नी की हत्या कर पति ने कर ली आत्महत्या

परिवार में छाया मातम

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मामूली बात से शुरू हुआ विवाद इस कदर बढ़ा कि पत्नी को बेरहमी से हत्या के बाद पति ने ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम को मर्चरी भेजा है। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। एएसपी ने पुलिस बल के साथ मौके पर जाकर मुआयना किया है।
ये सनसनीखेज घटना मुख्यालय में बीती रात हुई। बताया गया कि एसडीएम कालोनी के पीछे शोभा सिंह पुरवा का सूरजभान केसरवानी (55) पुत्र मुन्नीलाल केसरवानी का पत्नी आशा उर्फ रानी (50) से किसी बात को


लेकर झगडा हो गया। पति ने विवाद को जेहन में ले लिया और रात्रि में ही सोते समय पत्नी के सिर पर पत्थर से जोरदार हमलाकर हत्या कर दी। इसके बाद पीछे के दरवाजे से निकल कर पिपरावल पुल के समीप रेलवे ट्रैक में पहुंच गया। तभी सतना की ओर से आ रही महाकौशल एक्सप्रेस के सामने पटरी में सिर रखकर जीवनलीला समाप्त कर ली। ट्रेन चालक ने घटना की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी। सूचना पर पहुंची जीआरपी ने जेब में रखे पहचान पत्र के आधार पर शिनाख्त कर परिजनों के घर जाकर जानकारी किया। करीब तीन बजे जब पुलिस दरवाजे गई तो सो रहे बेटे भौचक्के रह गए। पुलिस के पिता के बारे में पूछने पर घर में होने की बात कही। पुलिस के कहने पर पुत्र कमरे गए। जहां मां का खून से लथपथ शव देखा तो चीखपुकार मच गई। ेपति-पत्नी की मौत से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चैधरी, कोतवाल अनिल सिंह पुलिस के साथ घटना स्थल का मुआयना किया है। पुलिस ने शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम को मर्चरी भेजा है। 

मृतक के थी चाय की दुकान

चित्रकूट। मृतक सूरजभान मुख्यालय के शम्भूबाबू पेट्रोल पम्प के समीप चाय-पान की दुकान किए था। बगल में


तीन पुत्र भी फल आदि के ठेेले लगाते हैं। पूरा परिवार हंसीखुशी से जीविकोपार्जन करते थे। अचानक हुई हृदयविदारक घटना से परिवार में मातम छा गया। 

मृतक दम्पति का एकसाथ हुआ अंतिम संस्कार

चित्रकूट। मृतक के तीन पुत्र व एक पुत्री है। जिनमें दो पुत्र, पुत्री की शादी हो चुकी है। छोटा पुत्र अविवाहित है। मृतक नशे का आदी था। मृतक पत्नी कई वर्ष से बीमार थी। अक्सर काम को लेकर गृहकलह रहता था। घटना के बाद से परिवार में हाहाकार मचा है। मृत दम्पत्ति का एकसाथ अंतिम संस्कार हुआ है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages