Latest News

मधुमेह मरीज संतुलित भोजन व व्यायाम पर दें ध्यान

जिला अस्पताल में मिल रही मधुमेह जांच की सुविधा 
प्रतिदिन 10 से 15 मरीजों की हो रही जांच 

फतेहपुर, शमशाद खान । जिला अस्पताल में मरीजों को मधुमेह जांच की सुविधा का लाभ मिल रहा है। यहां मधुमेह के मरीजों की संख्या बढी है। प्रतिदिन 10 से 15 मरीजों की चिकित्सक मधुमेह की जांच करा रहे हैं। 
जिला अस्पताल के ओपीडी में फिजीशियन कक्ष में मरीजों की भीड रही। जिला अस्पताल में फिजीशियन डा आरएम गुप्ता ने बताया कि मधुमेह के मरीजों के लिए संयम और सतर्कता जरूरी है। दवा के नियमित सेवनए खूनए में मधुमेह की नियमित निगरानीए सही आहार व नियमित व्यायाम से इस बीमारी को नियंत्रित किया जा

सकता है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक दो में से एक वयस्क व्यक्ति को यह पता ही नहीं होता कि उसे मधुमेह है। समय समय पर इसकी जांच कराना आवश्यक है। तंबाकू व शराब का अत्यधिक सेवन करना और मानसिक तनाव मधुमेह होने के मुख्य कारण है। साथ ही यह बीमारी अनुवांशिक भी है। अगर परिवार में किसी को मधुमेह है तो उसके बच्चों में भी यह बीमारी होने के आसार बढ जाते हैं। बताया कि एक स्वस्थ्य व्यक्ति का ब्लड मधुमेह का स्तर 140 के अंदर होना चाहिए। अगर ब्लड मधुमेह का स्तर 140 और 200 के भीतर है तो ऐसे मरीजों को खान पान और व्यायाम करके ब्लड मधुमेह नियमित करने की सलाह दी जाती है। अगर यह स्तर 200 से ज्यादा होता है तो उन्हे दवा से नियंत्रित किया जाता है। सीएमओ डा0 उमाकांत पांडेय ने बताया कि जिला अस्पताल के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी मधुमेह की जांच की सुविधा उपलब्ध है। यदि कोई मरीज अपनी मधुमेह की जांच करवाना चाहे तो सरकारी अस्पताल आकर फ्री में जांच करवा सकता है। मरीज को परेशान होने की जरूरत नहीं है। संयमित खानपान और व्यायाम से इस बीमारी से बचा जा सकता है। 
बोले मरीज 
- सनगांव की रहने वाली संगीता बताती हैं कि कमजोरी और थकान की शिकायत रहती है। जिला अस्पताल आकर डाक्टर को दिखाया तो मधुमेह की जांच कराने की सलाह जिला अस्पताल में ही मधुमेह जांच की सुविधा मिल गई। 
- जिला महिला चिकित्सालय में कोराई गांव की रहने वाली गर्भवती रागिनी देवी के पति विक्रम ने बताया कि डाक्टर की सलाह पर अस्पताल में ही मधुमेह की जांच करा ली है। इधर उधर भटकना नहीं पडा। 
इस प्रकार मधुमेह रोगियों की हुई जांच .
अगस्त- 223
सितंबर- 198
अक्तूबर- 310
नवंबर अब तक- 148

यह बरतें सावधानी 
.
- मधुमेह से बचने के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाई जाए।
- खानपान के अलावा नियमित व्यायाम व शारीरिक श्रम पर ध्यान दिया जाए। 
- अनियमित खानपान एवं व्यायाम नहीं करना चाहिए।
- डायबिटीज से बचने के लिए सप्ताह में कम से कम पांच दिन तीस मिनट तक टहलना चाहिए। 
- उम्र के साथ वजन को भी नियंत्रित करना चाहिए।

No comments