Latest News

शिकंजे में आए लग्जरी जिंदगी जीने वाले अधिकारी व कर्मचारी, तीन पुलिसकर्मी समेत 33 की जांची जाएगी संपत्ति

कम समय में ही बनवा लिया करोड़ों का बंगला शिकायत मिलने के बाद विजिलेंस व भ्रष्टाचार निवारण संगठन ने शुरू की जांच।...
कानपुर गौरव शुक्ला:- लाखों के घर, महंगी गाडिय़ां खरीदकर लग्जरी जिंदगी जी रहे तीन पुलिसकर्मियों समेत विभिन्न विभागों के 33 अधिकारी व कर्मचारी विजिलेंस और भ्रष्टाचार निवारण संगठन की रडार पर हैं। आय से अधिक संपत्ति व अनियमितता के आरोप लगाते हुए विभागों से जुड़े कुछ लोगों ने इनकी शिकायत की है। दोनों विभागों के एसपी ने जांच शुरू करा दी है।

पुलिस, बिजली व राजस्व विभाग के कर्मचारियों की शिकायत

भ्रष्टाचार निवारण संगठन (एंटी करप्शन) में इस वर्ष सेक्टर के सभी जिलों से करीब 21 शिकायती पत्र आए हैं। इसमें स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, बिजली और राजस्व विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ शिकायत की गई हैं। आरोप है कि कम समय में ही उन कर्मचारियों ने लाखों का बंगला बनवा लिया और अपने बच्चों को लाखों की फीस अदा कर महंगे कॉलेजों में दाखिला दिलवाया है। राजस्व विभाग के दो कर्मचारियों पर तो सरकारी भूमि में हेराफेरी का आरोप है। इसी तरह सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) कानपुर सेक्टर को विभिन्न जिलों से आए 12 शिकायती पत्रों पर शासन की ओर से जांच सौंपी गई है। इसमें भी आय से अधिक संपत्ति के आधा दर्जन मामले हैं। गुरुवार को लखनऊ में सेक्टर के प्रभारी एसपी अनिल यादव ने अधीनस्थों को जांच जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।

इस साल छह घूसखोर चढ़े टीम के हत्थे

इस वर्ष घूसखोरी में छह सरकारी कर्मचारियों को एंटी करप्शन टीम ने रंगेहाथ पकड़कर जेल भेजा। इसमें औरैया में एडीपीआरओ कमल किशोर, कानपुर देहात बीएसए दफ्तर के बाबू जसीम अहमद, इटावा में जूनियर इंजीनियर राकेश यादव, डेरापुर थाने के दारोगा जितेंद्र सिंह, कानपुर देहात क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर रामवीर सिंह और कौशांबी में नगर पंचायत दफ्तर के लिपिक देवानंद शामिल हैं। आय से अधिक संपत्ति मामले में काकादेव थाने में रिटायर्ड दारोगा बलवीर सिंह, चकेरी थाने में हेड कांस्टेबिल शिवेंद्र सिंह और प्रयागराज के धूमनगंज थाने में रिटायर्ड लिपिक कामेश्वर प्रसाद के खिलाफ रिपोर्ट लिखाई गई थी।

इनका ये है कहना

एंटी करप्शन कानपुर में आय से अधिक संपत्ति व अन्य अनियमितताओं के कई मामले हैं। तीन मामलों में मुकदमा लिखाया जा चुका है। जांच पूरी कर अन्य मामलों में भी कार्रवाई की जाएगी।

- राजीव मल्होत्रा, एसपी, एंटी करप्शन

विजिलेंस टीम को शासन की ओर से करीब एक दर्जन मामलों की जांच सौंपी गई है। समीक्षा बैठक कर निरीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं। जल्द ही जांच रिपोर्ट शासन को दी जाएगी।

- अनिल यादव, एसपी विजिलेंस 

No comments